बात उन दिनों की है जब फेसबूक, ट्यूटर जैसे सोशल नेटवर्किंग के आकर्षण मे आवद्ध होकर ब्लॉगरों की ब्लॉग पर सहभागिता कुछ कम होने लगी थी । ब्लॉग जैसे लोकतान्त्रिक माध्यम से हिन्दी को नया आयाम देने और पारस्परिक प्रेम के आदान-प्रदान हेतु मेरे द्वारा कुछ मित्रों को साथ लेकर ब्लॉग पर उत्सव कीपरिकल्पना की गयी, क्योंकि उत्सव का अभिप्राय ही है पारस्परिक प्रेम का आदान-प्रदान। 

परिकल्पना पर १५ अप्रैल २०१० से शुरू हुये उस उत्सव की पंचलाइन थी -अनेक ब्लॉग नेक हृदय...। यह उत्सव दो माह तक निर्वाध गति से परिकल्पना पर जारी रहा। इसका समापन हमने विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय योगदान देनेवाले 51 चिट्ठाकारों के सारस्वत सम्मान से किया। उत्सव के दौरान सारगर्भित टिपण्णी देने वाले श्रेष्ठ टिप्पणीकार को भी इस अवसर पर सम्मानित किया गया

उस उत्सव का मुख्य आकर्षण था दुष्यंत के बाद सर्वाधिक चर्चित गज़लकार श्री अदम गोंडवी की रचनात्मक उपस्थिती । उ० प्र० प्रगतिशील लेखक संघ की राज्य इकाई के सदस्य श्री शकील सिद्दीकी ने उस अवसर पर बताया कि कैसे हिंदी ब्लोगिंग ने एक उत्तेजक वातावरण का निर्माण किया है ? ,श्री समीर लाल समीर ने बताया उड़न तश्तरी की कामयाबी का राजहिंदी चिट्ठाकारिता में अपने अनुभवों से रूबरू कराया श्री ज्ञानदत्त पाण्डेय ने, हिंदी ब्लोगिंग के कई अनछुए पहलूओं को उजागर किया श्री रवि रतलामी ने, हिंदी ब्लोगिंग की समृद्धि को आयामित करने के उपायों पर चर्चा की श्री शास्त्री जे० सी० फिलिप , अविनाश वाचस्पतिजी०के०अवधिया, गिरीश पंकज आदि, हिंदी चिट्ठाकारी की विकास यात्रा पर प्रकाश डाला श्री अरविन्द श्रीवास्तव ने  ....आदि-आदि

वाणी वन्दना और गणपति वन्दना को स्वर देकर उत्सव का श्री गणेश किया सुश्री स्वप्न मंजूषा 'अदा' और सुश्री पारुल ने। वाणी वन्दना और उत्सव गीत लिखे आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल' ने । इस अवसर पर श्री मती निर्मला कपिला की प्यारी ग़ज़ल को स्वर दिया श्री सुनील सिंह डोगरा ने। प्रेम के प्रतीक श्री इमरोज से प्रेम परक बातचीत प्रस्तुत की श्री माती रश्मि प्रभा ने, अपनी कविताओं को स्वयं आवाज़  दिये श्री पंकज सुबीर , रश्मि प्रभा , अनुराग शर्मा, स्वप्न मंजूषा'अदा' आदि रचनाकार । रंजना (रंजू) भाटिया ने सुनाया उत्तराखंड की यात्रा का वृत्तांत। इसके अलावा ढेरों कविताएँ, गीत,ग़ज़ल, कहानियां , संस्मरण आदि पढ़ने और सुनने को मिले

वर्ष-2011 मे भी परिकल्पना पर ब्लॉग उत्सव मनाया गया और इसमें शामिल हुये 500 से ज्यादा ब्लॉगर, किन्तु जब सारस्वत सम्मान देने की बारी आई तो ऐसे लोगों का विरोध दिखा जो इस ब्लोगोत्सव का कभी हिस्सा ही न रहे । फिर भी मैंने सबकी सलाह सुनी और सबकी टिप्पणी पर गौर किया । 

दशक के ब्लॉग और ब्लॉगर हेतु कराये गए मतदान पर भारी संख्या मे मत प्राप्त हो रहे है । समय-समय पर रुझान बताने से ब्लॉगरों मे भ्रम की स्थिति बनती है । इसलिए दशक के ब्लॉग और ब्लॉगर के चयन की अंतिम सूची  हम जून-2012 के प्रथम सप्ताह मे जारी करेंगे और उनका सारस्वत सम्मान हम अगस्त माह के प्रथम सप्ताह मे परिकल्पना सम्मान समारोह मे करेंगे ।

विषय आधारित 41 ब्लॉगरों के चयन मे तमाम ब्लॉगरों की सलाह पर गौर किया जा रहा है और उन सलाहों के आधार पर एक सूची तैयार कराते हुये  निर्णायक मण्डल को भेजा जा रहा है, निर्णायकों के प्राप्त मन्तव्य के आधार पर सहमति बनाते हुये हम शीघ्र चयनित सूची आप सभी के सामने लाएँगे । 


संतोषत्रिवेदी जी और मनोज पाण्डेय जी ने इस पूरे प्रकरण की निष्पक्ष समीक्षा करते हुये कुछ महत्वपूर्ण सलाह दिये हैं, जिसे पूरी गंभीरता के साथ अमल मे लाया जा रहा है । तबतक धैर्य बनाए रखें ।  


40 comments:

  1. आपका बहुत-बहुत आभार रवीन्द्र जी !

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  2. Bahut Bahut dhanyavaad Ravindra Ji... Maine abhi tak apni koi pratikriya nahi di kyonki mere anusaar iske liye main abhi bahut chhota hun is blog jagat mein... Par aapke is kaarya k liye main aapko badhaayi aur dhanyavaad dono deta hun... antim varsh kee bhaanti is saal bhi main uplabdh rahunga...

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  3. सही और दृढ़ कदम साहित्यिक यात्रा में - हम साथ हैं

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  4. हिन्दी ब्लॉगिंग के प्रचार हेतु आपके ये प्रयास स्तुत्य हैं।

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  5. स्पष्ट निर्णय के लिए शुभकामनाएं!!

    आपकी सभी बातें उचित ही है किन्तु "रुझान बताने से ब्लॉगरों मे भ्रम की स्थिति बनती है" वाली बात संतुष्टि नहीं देती। तब तो वोटिंग लिस्ट में दिए १०-१० नामों से भी भ्रम की स्थिति बनने वाली संभावना जो व्यक्त की गई भी सही थी?

    खैर………
    हमें तो उत्कंठा मात्र यह है कि उन ब्लॉगर्स्र को जानें जो सर्वमान्य कुशल व विशेषज्ञ है।

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  6. सुज्ञ जी,
    आये हुए मतों का पूरी बारीकी से अध्ययन किया जा रहा है, रुझान देने के बाद कई ब्लोगरों के पक्ष में मतों की बाढ़ सी आ गयी , इसलिए ऐसा बोगस वोट रोकने के लिए किया गया है, क्योंकि अपनी-अपनी स्थिति जानकर लोग फर्जी तरीके से ज्यादा वोट करने लगे हैं, जो उचित नहीं है . ऐसे ब्लोगरों के पक्ष में भी ज्यादा से ज्यादा वोट प्राप्त हो रहे हैं जिनके आठ-दस ब्लॉग पोस्ट ही आये हैं अभी तक . पात्रता रखने वाले ब्लोगरों का चयन हो तो सभी को ख़ुशी होगी . वातावरण की पवित्रता बनी रहनी चाहिए .

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  7. आपकी सुन्दर सोच को नमन प्रभात जी, बहुत-बहुत शुभकामनाएं !

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  8. भाई, यह तो जटिल प्रक्रिया है... ’पोप’ के चुनाव सा!

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  9. यदि सलाह मानने की परम्परा सलामत है, तों मेरी एक सलाह है कि उनको भी इस सम्मान से नवाजा जाना चाहिए, जिसने ब्लॉग तों बना ली, लेकिन एक पोस्ट भी नहीं डाला, दूसरी सलाह है की सुमन साहब को नाइसकार के रूप में अंतर्राष्ट्रीय ख्याति दिलवाने कि दिशा में प्रयास किया जाय, बाकि ऊपर के प्रयास के लिए आपलोग बिलकुल साधुवाद के पात्र है, बहुत बड़ा और सार्थक काम आप लोग कर रहे हैं,
    अरुण कुमार झा

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  10. परिणामों की ही हमें भी प्रतीक्षा है ! सभी प्रतिभागियों को अनंत शुभकामनाएं !

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  11. टिप्पणी में परिहास की अनुमति ले रहा हूँ।
    रविन्द्र जी अतिप्रयोगधर्मी हो गए हैं।

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  12. @ इसलिए ऐसा बोगस वोट रोकने के लिए किया गया है, क्योंकि अपनी-अपनी स्थिति जानकर लोग फर्जी तरीके से ज्यादा वोट करने लगे हैं, जो उचित नहीं है .
    आश्चर्य है रवीन्द्र जी! वह कैसा साहित्यकार जो बोगस वोटिंग के हथकण्डे अपनाता है? ऐसे लोगों का साहित्यकार परिवार से बहिष्कार किया जाना चाहिये।

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  13. निर्णायक मंडल
    परिकल्पना सम्मान-२०११ हेतु रचनाकारों के चयन के लिए , हमारे निर्णायक :
    मुख्य समन्वयक सह मार्गदर्शक :
    डा. सुभाष राय ( मुख्य संपादक : दैनिक जनसंदेश टाइम्स,लखनऊ )
    मुख्य सलाहकार :
    श्रीमती सरस्वती प्रसाद (वरिष्ठ कवियित्री,पुणे )
    श्री समीर लाल समीर, टोरंटो (कनाडा )
    निर्णायक मंडल :
    श्रीमती निर्मला कपिला,नंगल (पंजाब)
    डा. अरविन्द मिश्र, वाराणसी
    श्री खुशदीप सहगल, दिल्ली
    श्री सुमन सिन्हा,पटना
    श्री गिरीश पंकज, रायपुर
    श्री मनोज कुमार,कोलकाता
    श्रीमती शिखा वार्ष्णेय, लन्दन
    श्रीमती दर्शन कौर धनोए,मुम्बई
    श्री शाहिद मिर्ज़ा शाहिद,मेरठ
    श्री ललित शर्मा,अभनपुर
    श्रीमती अरुणा कपूर,दिल्ली
    श्री पवन चन्दन,दिल्ली
    श्री बसंत आर्य,मुम्बई
    श्री विरेन्द्र शर्मा, मिशिगन (यु एस ए)
    * उपरोक्त निर्णायकों के अभिमत के साथ संपादक मंडल के सदस्यों क्रमश: रवीन्द्र प्रभात, अविनाश वाचस्पति,रश्मि प्रभा,रणधीर सिंह सुमन, जाकिर अली रजनीश,शहनवाज़ और कनिष्क कश्यप भी निर्णायकों के साथ सहायक की भूमिका में होंगे !




    jitnae bhi log niranayak mandal mae haen unko kisi bhi samaan kae liyae vote nahin kiyaa jaana chahiyae

    niranayak sammaan kae adhikaari nahin hotaa haen

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  14. रवीन्द्र जी बहुत मुश्किल है ब्लाग जगत के लिये आप जैसी प्रतिबद्धता और कर्मठता। शुभकामनायें।

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  15. रवीन्द्रजी आभार और शुभकामनाएँ इस उत्सव के लिए !

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  16. आयोजन हेतु शुभकामनाएँ.
    मैं अपना वोट पहले ही दे चुकी हूँ .
    ...
    नामांकित प्रत्याशियों ने एक दिन में ३-४ बार इमेल भेज -भेज कर वोट मांगने का क्रम चला दिया है जो सही नहीं है. एक बार ही रेकुएस्ट भेजें, काफी है.
    ---

    आभार.

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  17. अरे ! मैं तो लि‍स्‍ट ढूंढता हुआ आया था इस ब्‍लॉग पर...

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  18. रविन्द्र भाई ..
    इस गर्मी के मौसम में मची बहुत गहमा गहमी के बीच में मैं अपने आपको ही कई पुरुष्कार के लिए नामांकित करता हूँ.

    (1) कवि का सम्मान : विजय
    कविताओं के मन से .... [ http://poemsofvijay.blogspot.in/ ]

    (2) युवा कार्टूनिस्ट का सम्मान : विजय
    INDIAN COMICS भारतीय कॉमिक्स .. [ http://comicsofindia.blogspot.in/ ]

    (3) लेखक का सम्मान (कथा-कहानी) :विजय
    कहानियो के मन से .... [ http://storiesbyvijay.blogspot.in/ ]

    (4) लेखक का सम्मान (सकारात्मक पोस्ट)
    अंतर्यात्रा… [ http://spiritualityofsoul.blogspot.in/ ]

    (5) चित्रकार का सम्मान : विजय
    MY ART … [ http://artofvijay.blogspot.in/ ]

    (6) छायाकार का सम्मान : विजय
    MY PHOTOGRAPHY.. [ http://photographyofvijay.blogspot.in/ ]

    मेरे कुल ब्लोग्स की सूचि नीचे दे रहा हूँ मित्रो . इनमे से हर विधा या creativity पर आप मुझे पुरुष्कार दे सकते है . वैसे निर्णयाक मंडली का निर्णय मुझे स्वीकार होंगा .


    कविताओं के मन से .... [ http://poemsofvijay.blogspot.in/ ]
    ख्वाबो के दामन से ... [ http://worldofvijaysappatti.blogspot.in/ ]
    कहानियो के मन से .... [ http://storiesbyvijay.blogspot.in/ ]
    अंतर्यात्रा… [ http://spiritualityofsoul.blogspot.in/ ]
    बस यूँ ही.......[ http://writingsofsilence.blogspot.in/ ]
    शिर्डी के साईबाबा… [ http://shrisaibabaofshirdi.blogspot.in/ ]
    INDIAN COMICS भारतीय कॉमिक्स .. [ http://comicsofindia.blogspot.in/ ]
    हमेशा हँसते ही रहो … [ http://jokesandcomedylife.blogspot.in/ ]

    HRUDAYAM …... [ http://hrudayam-theinnerjourney.blogspot.in/ ]
    MY PHOTOGRAPHY.. [ http://photographyofvijay.blogspot.in/ ]
    MY ART … [ http://artofvijay.blogspot.in/ ]
    ENGLISH POEMS… [ http://frozenmomentsoflifetime.blogspot.in/ ]
    SAINTS AND SAGES OF INDIA … [ http://saintsandsagesofindia.blogspot.in/ ]

    अंत में यही कहूँगा कि दोस्तों ; हिंदी ब्लॉग्गिंग का जो हाल बना हुआ है आजकल उसे देखकर सिर्फ दुःख ही होता है.... हम कहाँ से कहाँ आ गए यारो.......सिर्फ कांव कांव मच रही है ..... कम से कम हम अंग्रेजी ब्लोग्गेर्स के मैनर्स को तो देखे ....सारे झमेले में न हिंदी बच रही है और न ही ब्लॉग्गिंग ... लोगो ने अब ब्लॉगजगत को समाज का ही extension बना लिया है ...रात दिन बस सिर्फ शोर ही बचा है . मैं सिर्फ ब्लॉगजगत की बेहतरी के लिए प्रार्थना कर सकता हूँ .
    आमीन
    आप सभी का विजय

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  19. इस तस्वीर को तथा आपके प्रयासों को देखकर ब्लोगिंग की ताकत का एहसास होता है...

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  20. आयोजन की सफलता हेतु शुभकामनायें वोट तो मैं बहुत पहले दे चुकी

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  21. @ ... अपनी-अपनी स्थिति जानकर लोग फर्जी तरीके से ज्यादा वोट करने लगे हैं, जो उचित नहीं है. ऐसे ब्लोगरों के पक्ष में भी ज्यादा से ज्यादा वोट प्राप्त हो रहे हैं जिनके आठ-दस ब्लॉग पोस्ट ही आये हैं ...

    - सहृदय ब्लॉगर आरम्भ से ही अपने-अपने तरीके से इस प्रकार की कमियों की ओर ध्यान आकृष्ट कर रहे हैं जिससे ऐसे पुरस्कार अपनी गरिमा खोते हैं। कुछ अन्य कमियाँ, जिनके सुधार की आवश्यकता है:
    - निर्णायक मंडल के लोगों के नाम सूची से हटाये जाना (कभी सुना है किसी जज को अपने मुकदमे का निर्णय खुद देना?)
    - निर्णायक मंडल में ऐसे लोगों को चुनना जो अपनी टिप्पणियों में चार अक्षर से कुछ ज़्यादा लिख पाने में सक्षम हों
    - यदि दशक का ब्लॉगर चुना जाना है तो दशक के अधिकांश समय ब्लॉगिंग में रहे लोगों की सही सूची बनाकर सामने रखना (नाम चाहिये तो श्रम भी करना ही पड़ेगा)
    - कंटेंट और हल्ले के अंतर को पहचानना और यह स्पष्ट करना कि पुरस्कार में ज़ोर गुणवत्ता पर है राजनीति पर नहीं
    - सूची बनाने के तरीके में स्पष्ट दिखने वाले झोलों का सुधार, उदाहरण के लिये कविता कोश जैसा कार्य सम्भव करने वाले ललित कुमार (टेकवेल्किन ब्लॉग) जैसे ब्लॉगर को अपनी 100/200 ब्लॉगर की सूची से बाहर छोड़ने जैसी भयंकर भूल के कारणों की पड़ताल और उसका सुधार प्राथमिकता से करना
    - पुरस्कारों की निष्पक्षता बनाये रखने के उद्देश्य से यहाँ या अन्य जगह दिये गये सुझावों को राइट स्पिरिट में लेना
    - पुरस्कार का विचार आपका है, इसके लिये श्रम आपने किया है, इसका श्रेय भी आपको मिलना है तो फिर इसकी कमियों की ज़िम्मेदारी भी अपपर आना स्वाभाविक ही है। अब यह आपको देखना है कि आप इन पुरस्कारों को किस रूप में याद रखाना चाहते हैं
    मेरी ओर से हार्दिक शुभकामनायें!

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  22. सभी को नमस्कार और सार्थक प्रयास के लिए आप सभी को शुभकामनायें...सबका साथ बना रहा तो हिंदी ब्लॉगिंग से सबकी आशाए भी बढ़ जाएँगी|
    कर्म करना हमारा काम है फल की इच्छा करना नहीं...

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं
  23. हिंदी ब्लागिंग के नव द्वार सृजित करने के लिए आभार एवं हार्दिक शुभ कामनाएं !!!

    प्रत्‍युत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

 
Top